Wednesday, 28 December 2016

Sad Shayari in hindi font 2017

#याद करते है तुम्हे #तनहाई में,
दिल #डूबा है गमो की #गहराई में,
हमें #मत धुन्ड़ना दुनिया #की भीड़ में,
हम मिलेंगे #में तुम्हे तुम्हारी #परछाई में.

#मौत के बाद याद #आ रहा है कोई,
मिट्ठी #मेरी कबर से उठा #रहा है कोई,
या #खुदा दो पल की #मोहल्लत और दे दे,
उदास मेरी #कबर से जा रहा #है कोई.

3 comments:

  1. मत याद कर किसी को इस फरेबी दुनिया में
    क्यों ढूंढते हो किसी अपने को गैरों में,
    जिस परछाईं की बात तुम आज करते हो
    साथ छोड़ देता है वो भी अंधेरों में।

    ReplyDelete
  2. निकल गयी थी जो जान शरीर से
    तो अपनों ने ही दफनाया था मुझे,
    न जाने फिर भी क्यों इक शख्स
    ख़ास याद आया था मुझे।

    ReplyDelete